WhatsApp पर मिलेगा नया फीचर, असली और नकली का करेगा खुलासा, Deepfakes की कर सकेंगे रिपोर्ट

डिजिटल युग में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तेजी से विकसित हो रही है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लोगों का काम आसान हो रहा है और कहीं नए-नए संसाधन डेवलप हो रहे हैं जो इंसान की जरूरत के हिसाब से उनके कामों को और भी ज्यादा आसन बना रहे हैं इसके साथ ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से समय की बचत भी की जा रही है लेकिन डिजिटल दुनिया में तेजी से कुछ अच्छे विकास हो रहे हैं तो कुछ ऐसे संसाधन बनते जा रहे हैं जिसे लोगों का फायदा हो रहा है लेकिन कुछ लोग इन्हीं चीजों का फायदा गलत कामों के लिए भी उठा रहे हैं जिसे डिजिटल दुनिया में डीप फेक का नाम दिया गया है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए कई चीजों को और भी बेहतर ढंग से और कम समय में किया जा रहा है लेकिन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से लोगों को गुमराह भी किया जा रहा है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बढ़ते विकास से लोगों के साथ कई तरह के नए स्कैम भी सामने आए हैं इसी तरह के दी फेक से निपटने के लिए व्हाट्सएप में अपने यूजर्स को एक ऐसा फीचर देने की तैयारी कर रहा है जो व्हाट्सप्प यूजर्स को गुमराह करने वाले और फर्जी कंटेंट से रूबरू कराएगी और यूजर को बताया कि यह कंटेंट एक फैक्ट कंटेंट है या किसी तरह का आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से के द्वारा बनाया गया कंटेंट है

Fact-Checking Helpline सर्विस फिचर

व्हाट्सएप अपने प्लेटफार्म पर सभी यूजर्स के लिए एक हेल्पलाइन सर्विस देने वाला है जिसमें यूजर के साथ किसी तरह के डिफेक्ट कंटेंट के बारे में जानकारी मिलेगी यूजर इस हेल्पलाइन की मदद से फर्जी कंटेंट के खिलाफ व्हाट्सएप को शिकायत भी कर सकता है और किसी फर्जी कंटेंट के बारे में जानकारी भी प्राप्त कर सकता है इस फीचर की मदद से व्हाट्सएप यूजर्स को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए होने वाले दी फेक के खतरे से बचाया जाएगा और इस डिजिटल दुनिया में चल रहे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बेस पर फर्जी कंटेंट पर रोक लगाई जाएगी और व्हाट्सएप यूजर को फर्जी कंटेंट से होने वाले स्कैम से बचाया जाएगा

कब तक लॉन्च होगा Fact-Checking Helpline फिचर

व्हाट्सएप आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के तेजी से हो रहे विकास को देखते हुए और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए हो रहे स्कैम्स को देखते हुए व्हाट्सएप यूजर्स की प्राइवेसी को और भी मजबूत करने के लिए जल्द ही इस फीचर को लांच करेगा क्योंकि यह फीचर व्हाट्सएप यूजर को फर्जी कंटेंट से अवगत कराएगा और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए हो रहे deepfack के खतरे को काम करेगा इस फीचर को मार्च के महीने में लॉन्च किया जा सकता है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top