अब बंद पड़े Mobile नंबर से नहीं कर पाएगे स्कैम

इस डिजिटल दुनिया में इंटरनेट के तेजी से विकास से ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले बहुत ज्यादा देखने को मिल रहे हैं इस तरह के ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले मोबाइल फोन और मोबाइल नंबर के जरिए होते हैं ऑनलाइन धोखाधड़ी को रोकने के लिए DOT एक नई AI पर काम कर रहा है इस टूल की मदद से ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचाया जाएगा

ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले आए दिन देखने को मिलते हैं और हर दिन इस तरह के ऑनलाइन Scam बढ़ते ही जा रहे हैं हैकर्स भी लोगों के साथ धोखाधड़ी करने के लिए नए-नए तरीके आजमाते हैं और आपने भी सिम कार्ड से फ्रॉड के कई मामले टीवी में या ऑनलाइन के माध्यम से देखें सुने होंगे ऑनलाइन स्कैम हैकर्स आपका डाटा को चोरी करते हैं इसीलिए आपका डाटा ही बहुत ज्यादा इंपोर्टेंट है इसके साथ आपके मोबाइल नंबर के माध्यम से भी हैकर्स आपका डाटा चोरी कर लेते हैं क्योंकि मोबाइल नंबर ही आपके बैंक अकाउंट आधार कार्ड और किसी भी तरह के सरकारी डॉक्यूमेंट से जुड़ा होता है जिसकी वजह से वह आपकी पूरी जानकारी निकाल लेते हैं आपके मोबाइल नंबर से ओटीपी वेरिफिकेशन के माध्यम से आपके बैंक से बैलेंस को भी उड़ाया जा सकता है इस तरह के ऑनलाइन धोखाधड़ी में मोबाइल नंबर के माध्यम से कई सारे लोगों को अपने लाखों रुपए गंवाने पड़े

DOT इस तरह बताया आपको स्कैन से

आपकी जानकारी के लिए बता दें DOT एक AI प्लेटफॉर्म है इस AI प्लेटफॉर्म के जरिए बैंक्स और आधार कार्ड एजेंसी को उन सभी नंबर्स की जानकारी मिल जाएगी जो अभी डिस्कनेक्ट हो चुके हैं कहने का मतलब यह हुआ जो नंबर डीएक्टिवेट हो चुका है या उसे कोई काम में नहीं ले रहा है यह Ai टूल बैंक और आधार एजेंसी को इस तरह के बंद हुए मोबाइल नंबर्स की जानकारी देगा जिससे इस तरह के ऑनलाइन स्कैंस पर काफी रोक लग जाएगी इस Ai टोल के जरिए उन सभी नंबर्स को ऑटोमेटिक रिमूव करने का काम किया जाएगा जो किसी के बैंक अकाउंट में या आधार कार्ड में एक्टिव नहीं है

AI Tool पता लगाएगा फर्जी आईडी से खरीदे गए नंबर

DOT के इस ए टूल के जरिए ASTR मे AI टूल की मदद से KYC जा डॉक्यूमेंट की जांच की जाएगी यदि किसी ने मोबाइल नंबर को लेने के लिए फर्जी डॉक्यूमेंट को उसे किया होगा तो Ai टूल उसे पकड़ लेगा और उसी समय उस नंबर को ब्लॉक कर देगा यह Ai टूल बैंक और आधार सेंटर तक किसी भी फर्जी मोबाइल नंबर की सूचना देगा इस Tool की मदद से ऑनलाइन धोखाधड़ी होने वाले मामलों को रोकने के लिए काम में लिया जाएगा DOT डॉट का कहना है कि इस तरीके से ऑनलाइन धोखाधड़ी से काफी निजात मिलेगी

यह भी जाने

Deepfake पर सख्त हुआ Youtube, अब क्रिएटर्स को देनी होगी AI कंटेंट की जानकारी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top