Aditya L1 Budget: नासा के मुक़ाबले 10% खर्च पर जा रहा हमारा सूर्य मिशन ,यहा जानिए कितना है बजट

भारत की स्पेस कंपनी इसरो ने चांद पर अपना चंद्रयान 3 उतार कर सफलता हासिल कर ली है और आप एक नए मिशन पर इसरो कंपनी निकल पड़ी है और अब सूर्य के कुछ रहस्य से पर्दा हटाने के लिए सूर्य मिशन के लिए आदित्य L1 को लांच कर दिया है

नई दिल्ली: चांद पर अपने चंद्रयान 3 की सफलतापूर्ण लैंडिंग के बाद अब सूर्य से जुड़े कुछ रहस्य के बारे में जानकारी जुटाना के लिए भारत ने अपना सूर्य यान लॉन्च कर दिया है आपको बता दें भारत की इसरो स्पेस कंपनी में इस अंतरिक्ष यान का नाम आदित्य एल1 रखा गया है आदित्य एल्बम सूर्य से जुड़ी जानकारी को जुटाएगा और कई सारे रहस्यों की खोज की जाएगी इसरो काफी कम कीमत पर अपने मिशन को अंजाम देने के लिए जाना जाता है इसकी वजह यह है कि इसरो ने नासा(NASA) और दुनिया की दूसरी स्पेस एजेंसियो के मुकाबले कम  लागत पर मिशन भेजे हैं और पूरे किए हैं हाल ही में चांद की सतह पर सफलतापूर्वक लैंडिंग करने करने वाले chandrayaan3 को इसरो कंपनी ने देखा जाए तो बहुत कम बजट में लॉन्च किया था सूर्य मिशन के लिए आदित्य एल्बम को भी और देश के सूर्य मिशन अंतरिक्ष नो से काफी कम बजट में तैयार किया गया है सूर्य मिशन के लिए बनाए गए इस यान में  378.53 करोड रुपए खर्च किए गए थे लेकिन इस कीमत मे लांच की लागत नहीं है

चंद्रयान का खर्चा  

आपकी जानकारी के लिए बता दें चंद्रयान3 के लिए बनाए गए यान को तैयार करने में कुल खर्च 15 करोड रुपए का आया था लैंडर विक्रम, रोवर प्रज्ञान बनाने के लिए खर्च करोड़ कहां हुआ था साथ ही इसके लांच पर 365 करोड रुपए खर्च हुए थे इसका कुल खर्च चंद्रयान-2 की तुलना में करीब 30% कम है साल 2008 में कुछ बीती रिपोर्ट्स के मुताबिक चंद्रयान 1 में 365 करोड रुपए का खर्चा आया था और जब इसको कंपनी ने चंद्रयान 2 को बनाया था तो इसको बनाने में 978 करोड रुपए का खर्चा आया था अभी तक किसी को कंपनी ने चांद पर भेजे गए सभी मिशन में कुल खर्च 1979 करोड रुपए का आया है लेकिन इसके मुकाबले अमेरिका और भारत के इसरो मूल मिशन बाकी देशों के मूल मिशन के मुताबिक बहुत ही सस्ता है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top