सोशल मीडिया अकाउंट करें यूज पासवर्ड ना हो लूज

डिजिटल दौर लोगों की जिंदगी को लगातार बदल रहा है बच्चों की पढ़ाई और अधिकतर वर्क ऑनलाइन होने की वजह से साइबर अपराध तेजी से बढ़ता जा रहा है साइबर अपराध से बचने के लिए जागरूक रहना बहुत ही जरूरी है और साथ में अपने सोशल मीडिया अकाउंट के पासवर्ड को भी मजबूत रहना चाहिए साइबर अटैक जानी डिजिटल चोरी ऑनलाइन होती है साइबर अटैक को कंप्यूटर या मोबाइल सिस्टम के नेटवर्क और टेक्नोलॉजी से किया जाता है आजकल ऑनलाइन ठगी में बड़े और समझदार लोग ही नहीं अब बच्चे भी आ रहे हैं साइबर अटैक करने वाले अपराधी फिशिंग स्कैम, मालवीय और कई तरह की हैकिंग के तरीके को अपना रहे हैं ऐसे में जरूरी है हम अपने घरों के बच्चों को ऑनलाइन ठगी या साइबर फ्रॉड से बचने के लिए समय-समय पर उन्हें जानकारी देते रहें और साइबर फ्रॉड से दूर रखें ऐसे ऑनलाइन छोड़ के घटनाओं को देखते हुए आपको जानकारी दी जा रही है नीचे आपको डिटेल में बताया जाए किस तरीके से ऑनलाइन फ्रॉड होते हैं

साइबर अटैक के नए तरीके

मालवेयर अटैकइस अटैक में एक सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जाता है इसका मकसद कंप्यूटर मोबाइल को नुकसान पहुंचाना होता है इस तरीके से बनाया गया है यह वायरस,ट्रोजन और रेसमवेयर का रूप ले लेता है

 

फिशिंग अटैक: फिशिंग अटैक साइबर अटैक की दुनिया में सबसे आम तरीका है जिससे बहुत सारे ऑनलाइन ठगी होती है इसमें यूजर का पासवर्ड और क्रेडिट कार्ड नंबर जैसी इंफॉर्मेशन को चोरी कर लिया जाता है और फिर धोखे से उसके जीवन भर की कमाई को उड़ा लिया जाता है 

पासवर्ड अटै: इस तरह के अटैक में व्यक्ति के पासवर्ड को क्रैक करना होता है या फिर संवेदनशील जानकारी तक पहुंची बनाना 

स्मिशिग: इस तरह के स्केम में किसी संदिग्ध ईमेल एसएमएस के जरिए ऑनलाइन फ्रॉड किया जाता है इसे स्मिशिग कहां है आजकल ऑनलाइन इस तरह के स्कैम तेजी से बढ़ते जा रहे हैं जिसमें लॉटरी ईमेल, बैंक अकाउंट में अपडेट के बहाने बनाकर ऐसे ही मेल भेजी जा ते हैं और फिर एक लिंक के जरिए यूजर की सारी जानकारी चुरा ली जाती है और और उसके बैंक से पूरे पैसे उड़ा ले जाते हैं

 

साइबर अटैक से कैसे बचें

इस तरह के साइबर अटैक से बचने के लिए सबसे पहले तो हमें हमेशा सतर्क रहना पड़ेगा और किसी भी अनजान ईमेल या SMS ,फोन कॉल,वीडियो कॉल, को रिस्पांस नहीं देना है और अपने सभी ऑनलाइन अकाउंट के मजबूत पासवर्ड और यूनिक पासवर्ड बनाएं और समय-समय पर इन पासवर्ड को अपडेट भी करते रहे और साथ ही में अपने ऑनलाइन अकाउंट को समय-समय पर अपडेट करते रहें और अपने कंप्यूटर में एंटीवायरस का उपयोग जरूर करें जिससे किसी भी तरह के वायरस या मलवेयर बचने में एंटीवायरस आपकी बहुत मदद करेगा

डाटा का बैकअप बनाकर रखें

संदेय बारे ईमेल और किसी भी अनजान Link से सावधान रहें किसी भी अनजान और गैर भरोसेमंद सोर्स के लिंक से किसी भी तरह का सॉफ्टवेयर जा वीडियो डाउनलोड ना करें वीपीएन जानी वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क का उपयोग करें वीपीएन आपके इंटरनेट कनेक्शन को इंक्रिप्ट करता है जिससे साइबर अटैक करने वाले को आपका डाटा इंटरसेप्ट करने में बहुत ज्यादा मुश्किल आती है और साथ में टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन को भी जरूर इनेबल कर दें इससे आपके अकाउंट सिक्योरिटी और भी मजबूत हो जाती है और आपको अपने जरूरी डेटा का बैकअप जरूर लेकर रखना चाहिए रस्मवेयर हमले में आपके डाटा को उड़ा दिया जाता है ऐसे में आपको अपने डाटा का बैकअप लेकर रखना चाहिए

 

इन बातों का रखें ध्यान

आप अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर किसी तरह का पेड़ प्रमोशन खरीदते हैं या फिर ऑनलाइन शॉपिंग करने के लिए नेट बैंकिंग का यूज करते हैं तो आपको अपने मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी को रजिस्टर्ड या अपडेट कर ले जिससे बैंकिंग ट्रांजैक्शन के अलर्ट आपको समय-समय पर मिलते रहेंगे मैसेज में आ रहे हैं किसी भी ऐसे लिंक पर क्लिक ना करें इसके बारे में आपको जानकारी नहीं है अगर आपको अपना मोबाइल किसी दूसरे व्यक्ति को देना है या फिर मोबाइल रिपेयरिंग के लिए देना है तो आप अपने ब्राउजिंग की हिस्ट्री को क्लियर कर दे और मेमोरी मैं स्टोर अस्थाई फाइलों को भी क्लियर कर दें क्योंकि उसमें आपके अकाउंट नंबर और दूसरी जानकारी हो सकती है अपने बैंक से संपर्क करके मोबाइल एप्लीकेशन को ब्लॉक कर दे और आप अपने मोबाइल के वापस मिलने पर उन्हें अनब्लॉक कर सकते हैं

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top